हाल में पोस्ट की गई लेख

लेबल

LATEST:


गुरुवार, 15 दिसंबर 2011

Chirag se na puchho baki tel kitna hai..

चिराग से न पूछो बाकि तेल कितना है....


चिराग से न पूछो बाकि तेल कितना है....
सांसो से न पूछो बाकि खेल कितना है,
पूछो उस कफ़न में लिपटे मुर्दे से..
जिन्दगी में गम और कफ़न में चैन कितना है.....

शाम का आन्नद लेते रहो मेरे दोस्त...

कोई टिप्पणी नहीं: